देश में बढ़ रहे बर्ड फ्लू के खतरे के बीच अब झाबुआ के विश्व प्रसिद्ध कड़कनाथ मुर्गे को अब आइसोलेशन मे रखा जा रहा है। साथ ही कड़कनाथ मुर्गे की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए उनको विटामिन्स और हल्दी का इम्युनिटी बूस्टर डोज दिया जा रहा है। मध्य प्रदेश के झाबुआ के कड़कनाथ मुर्गे को बर्ड फ्लू से बचाव के लिए आइशोलेशन में रखा जा रहा है। झाबुआ के कृषि अनुसंधान कड़कनाथ सेंटर में कड़कनाथ आइसोलेशन में रखे जा रहे हैं। सरकारी एडवायजरी के चलते अभी कोई भी बर्ड बाहर से नहीं लाई जा रही है और न ही बाहरी लोगों की सेंटर तक इंट्री हो रही है।

झाबुआ के कड़कनाथ सेंटर (केवीके) के प्रमुख डॉक्‍टर आईएस तोमर ने बताया कि एडवायजरी के बाद हम अलर्ट पर हैं। कड़कनाथ को इम्युनिटी बूस्टर डोज के रूप मे हल्दी के अलावा विटामिन्स सी, डी और ई लिक्विड तरीके से दी जा रही है ताकि बर्ड फ्लू जैसे खतरों से निपटने में दिक्कत ना आए। हालांकि कड़कनाथ मुर्गे मेंं दिक्कत की उम्मीद नहीं है लेकिन हम एहतियात बरत रहे हैं। गौरतलब है कि जयपुर, इंदौर और कसरावद में कुछ पक्षियों की मौत हुई है ज‍िससे सरकार को बर्ड फ्लू की आशंका है इसलिए पूरे देश में एडवायजरी जारी की गयी है। इसी के चलते झाबुआ के विश्व प्रसिद्ध कड़कनाथ मुर्गे को सुरक्षित करने के लिए कवायद की जा रही है। कड़कनाथ को इम्युुनिटी बूस्टर डोज दिया जा रहा है।

Source: aajtak